फाइट ट्रैफिकिंग - रीजनल ऑनलाइन रिसोर्स सेंटर

ReiHindi का परिचय

हमारे वाहतुक विरोधी ऑनलाईन संसाधन केन्द्र की जानकारी www.fighttrafficking.org इस वेबसाईट पर उपलब्ध है. मानव–वाहतुक विरोधी (एंटी ह्युमन ट्रैफिकिंग– एएचटी) आंदोलन में ज्ञान आधारित योगदान देने के उद्देश्य से इसका निर्माण किया गया था. अन्य किसी भी सामाजिक आंदोलन की ही तरह, एएचटी को एचटी (ह्युमन ट्रैफिकिंग) तथा लिंग आधारित हिंसाचार के पीड़ितों के लिए व्यापक सेवाओं के साथ-साथ ज्ञान निर्माण पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने की जरुरत है. इसीलिए, एंटी ट्रैफिकिंग केन्द्र (वाहतुक विरोधी केन्द्र– एटीसी) अनुसंधान, दस्तावेजीकरण, सूचना प्रसार, नीति विश्लेषण, संवेदीकरण, प्रशिक्षण तथा क्षमता निर्माण का कार्य करता है. बहुत कम समय में, एटीसी ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी उपयोगिता साबित की है और युएन एजेंसीयों, अंतर्राष्ट्रीय संघठनों, केन्द्र तथा राज्य सरकारों द्वारा इसे मान्यता दे दी गई है.

तीन दशकों से ज्यादा समय से, एटीसी की उपयोगिता देखने तथा एएचटी के क्षेत्र में काम करने के बाद, क्षेत्रीय मुद्दों, चिंताओं, पहल, स्थानीय किस्सों को साझा करने के लिए, सफलता एवं असफलता कहानियों तथा स्थानीय संसाधनों के लिए स्थान निर्माण करने हेतू हमें ऑनलाईन संसाधन केन्द्र के क्षेत्रीय विस्तार निर्माण की जरुरत महसूस हुई. ऐसा करने से, जिन लोगों को ऑनलाईन सर्वोत्तम संसाधनों की सुविधा हमेशा उपलब्ध नहीं हो सकती, उन काम करने वाले लोगों के लिए हम हमेशा तैयार रह सकेंगे ऐसी उम्मीद हम करते हैं.

भारत तथा दक्षिण एशिया के कई हिस्सों में, हिन्दी भाषा का उपयोग व्यापक तौर पर किया जाता है, इस बात को ध्यान में रखते हुए यह क्षेत्रीय विस्तार हिन्दी में किया गया है. वाहतुक तथा बाजारू लैंगिक शोषण के पीड़ितों के लिए मौजूदा सहायक संरचना के अंतिम व्यक्ति को सशक्त बनाकर और अधिकार असंतुलन में सुधार करने के लिए अपना योगदान देकर, हम इसकी उपयोगिता सिद्ध करने की उम्मीद करते हैं.

क्षमता वृद्धि

ब्लॉग

कानून