Prerana ATC | Fight Trafficking

search

पिछले साल हर दिन लापता हुए यूपी के 5 बालक: आरटीआई

तारीख: 28 नवंबर, 2021
स्रोत (Source): न्यूज़ नेशन

तस्वीर स्रोत : न्यूज़ नेशन

स्थान : उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश के 50 जिलों द्वारा उपलब्ध कराए गए एक आरटीआई प्रश्न से पता चला है कि पिछले साल राज्य में 18 साल तक की तीन लड़कियों सहित कम से कम पांच बालक हर दिन लापता हुए हैं. आंकड़ों के अनुसार, जो 1 जनवरी, 2020 से 31 दिसंबर, 2020 की अवधि से संबंधित है, उत्तर प्रदेश में कुल 1,763 बालक लापता हुए है. 66 प्रतिशत से अधिक (1,166) लड़कियां थीं. इनमें से 92 प्रतिशत (1,070) से अधिक लड़कियां 12 से 18 वर्ष के आयु वर्ग की थीं.

 

आरटीआई दायर करने वाले बाल अधिकार कार्यकर्ता नरेश पारस ने कहा कि 25 जिलों ने दो महीने की देरी के बाद भी कोई विवरण नहीं दिया. इन जिलों में लखनऊ, वाराणसी, गौतम बुद्ध नगर, गोरखपुर और बरेली शामिल हैं. पारस ने कहा कि अगर सभी जिलों का डेटा संकलित किया जाए तो लापता बालकों की वास्तविक संख्या बहुत अधिक होगी.

आंकड़ों से पता चला है, लापता बालकों के 113 मामलों के साथ, मेरठ जिला सूची में सबसे ऊपर है.

 

92 लापता बालकों के साथ गाजियाबाद दूसरे स्थान पर है, उसके बाद सीतापुर (90), मैनपुरी (86) और कानपुर शहर (80) हैं. आगरा जिले में पूछताछ के दौरान पता चला कि 11 लड़कियों समेत 23 बालक गायब हुए है. आरटीआई से यह भी पता चला है कि पिछले साल लापता हुए 1,763 बालकों में से 1,461 का पता लगाया गया था और पुलिस ने उन्हें बरामद किया था. हालांकि, 200 लड़कियों समेत 302 बालक अभी भी लापता हैं.

 

पारस ने कहा कि तथ्य यह है कि यूपी में हर दिन औसतन पांच बालक लापता हो रहे हैं, जिनमें से ज्यादातर लड़कियां हैं, यह काफी गंभीर है. लापता बालकों के मामलों की समीक्षा हर जिले में मासिक आधार पर पुलिस मुख्यालय में शिकायतकतार्ओं और जांचकतार्ओं की उपस्थिति में की जानी चाहिए. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुसार, लापता बालक के मामले में पुलिस को शिकायत के 24 घंटे के भीतर आईपीसी की धारा 363 (अपहरण) के तहत प्राथमिकी दर्ज करनी होती है. यदि चार महीने के भीतर गुमशुदा बच्चा नहीं मिलता है, तो मामले को प्रत्येक जिले में मौजूद पुलिस की मानव तस्करी विरोधी इकाई के पास भेजा जाना आवश्यक है.

 

न्यूज़ नेशन की इस खबर को पढ़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें.

 

अन्य महत्वपूर्ण खबरें

Copy link
Powered by Social Snap