Prerana ATC | Fight Trafficking

search

महाराष्ट्र सरकार ने अनाथ, बेघर बालकों के लिए मासिक भत्ता बढ़ाया

तारीख:  16 मार्च, 2022

स्रोत (Source): दि प्रिंट

तस्वीर स्रोत : दि प्रिंट

स्थान : महाराष्ट्र

महाराष्ट्र सरकार ने बाल कल्याण योजना से राज्य में अनाथ और बेघर बालकों के लिए मासिक भत्ता को बढ़ाकर 2500 रुपये कर दिया है. राज्य की मंत्री यशोमती ठाकुर ने बुधवार को विधानसभा को यह जानकारी दी.

विधानसभा के निचले सदन में प्रश्नकाल के दौरान राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) नवंबर 2021 से राज्य में अनाथ और बेघर बालकों का सर्वेक्षण कर रहा है.

ठाकुर ने कहा कि सर्वेक्षण के अनुसार, अब तक 5,153 बालक अपने परिवारों के साथ सड़कों पर रह रहे हैं, 1,266 बालक सड़कों पर हैं लेकिन वे झुग्गी-झोपड़ियों में रहते हैं और 39 अनाथ हैं. उन्होंने कहा कि सड़कों पर गुजारा करने वाले बालकों को उनकी दैनिक जरूरतों के लिए ‘डे-केयर सेंटर’ में रखा जा रहा है.

मंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने बाल कल्याण योजना से अनाथ और बेघर बालकों के लिए मासिक भत्ता 425 रुपये से बढ़ाकर 2500 रुपये प्रति बालक कर दिया है. आंगनबाड़ियों के निर्माण के बारे में पूछे जाने पर ठाकुर ने कहा कि 2014 से नयी आंगनवाड़ियों के लिए कोई अनुमति नहीं मिली है और अब तक प्राप्त प्रस्तावों को मंजूरी के लिए केंद्र को भेज दिया गया है. उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ियों का अधूरा निर्माणकार्य एक साल में पूरा कर लिया जाएगा.

दि प्रिंट की इस खबर को पढ़ने के लिए यहां पर क्लिक करें.

अन्य महत्वपूर्ण खबरें

Copy link
Powered by Social Snap