Prerana ATC | Fight Trafficking

search

नेपाल की किशोरी अमरोहा से बरामद, नौकरी का झांसा देकर भारत बुलाई जाती थीं लड़कियां

तारीख: 23 मई, 2021
स्रोत (Source): अमर उजाला

तस्वीर स्रोत: Google Image

स्थान: कर्नाटक

बेंगलुरु में नौकरी दिलाने के बहाने नेपाल से लाई गई 16 वर्षीय बालिका को तीन माह बाद नेपाल दूतावास के प्रतिनिधि के साथ पुलिस ने अमरोहा के रहरा क्षेत्र के गांव से बरामद किया है. बालिका ने खुद के फंसे होने की सूचना नेपाल के एक अनजान व्यक्ति को फोन पर दी थी, जिसके बाद दूतावास की मदद से पुलिस बालिका तक पहुंच पाई. थाना पुलिस ने क्षेत्र का युवक व नेपाली बालिका को दूतावास के प्रतिनिधि के सुपुर्द कर दिया है. रविवार को नेपाल के दूतावास से प्रतिनिधि नवीन जोशी, महिला कर्मचारी ममता बैकन एवं फरीदाबाद थाने के एएसआई अमर सिंह की टीम रहरा थाने पहुंचे और यहां आमद कराने के बाद पुलिस को साथ लेकर गंगेश्वरी गांव पहुंचे. यहां एक घर से सोलह वर्षीय नेपाली बालिका को बरामद किया. जिस घर में वह रह रही थी, उस युवक को भी साथ ले लिया और वापस थाने पहुंचे. 

यहां पूछताछ के दौरान बालिका ने बताया कि वह नेपाल के थाना एवं जिला कंचनपुर क्षेत्र में निजी स्कूल में नृत्य सिखाती थी. मार्च 2021 में पड़ोसी गांव के दो लड़के व दो लड़कियां पास पहुंचे और बेंगलुरु में डांस एकेडमी में नौकरी दिलाने का झांसा दिया, 16 मार्च 21 को नेपाल बॉर्डर पार कर लिया. बॉर्डर पार करने के दौरान नेपाल की तीन और लड़कियां भी मिलीं. कुल सात लोग यूपी के बनवसा पहुंच गए. यहां बस से आनंद विहार दिल्ली रात में पहुंचे.

युवकों ने प्लेटफार्म पर चाय के साथ टोस्ट खाने को दिए थे, इसके बाद बेहोश हो गई. सुबह होश आया तो साथ में जो साथी थे सभी गायब हो चुके थे. मोबाइलपैसे सब कुछ ले जा चुके थे. लेकिन हाथ में एक पर्ची थमा कर गए थेजिस पर नंबर लिखा हुआ था. उस पर संपर्क करने की कोशिश की तो संपर्क नहीं हुआ. यहां कई दिन भटकती रही. यहीं पर खोका चलाने वाले एक युवक से मुलाकात हुई. वह उसे रहरा थाना क्षेत्र के गंगेश्वरी अपने गांव में ले आया. 

 

          अमर उजाला की इस खबर को विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

अन्य महत्वपूर्ण खबरें

Copy link
Powered by Social Snap