Prerana ATC | Fight Trafficking

search

तमिलनाडु में फंसे 11 नाबालिग मजदूरों को लाया गया गृह जिला, एजेंट के झांसे का हुए थे शिकार

तारीख: 02 फरवरी, 2022

स्रोत (Source): एबीपी न्यूज़

तस्वीर स्रोतएबीपी न्यूज़

स्थान : तमिलनाडु

तमिलनाडु में फंसे 11 नाबालिग मजदूरों को सकुशल गृह जिले कांकेर वापस लाया गया है. सभी नाबालिग मजदूर कांकेर में अलग अलग जगहों के रहनेवाले हैं. ज्यादा पैसे का झांसा देकर दलाल मजदूरी के लिए तमिलनाडु ले गया था. तमिलनाडु पहुंचने के बाद मजदूर दर दर की ठोकर खाने लगे. रेलवे पुलिस की नजर पड़ने पर बालकों ने मामले का खुलासा किया. जानकारी के आधार पर कांकेर पुलिस से संपर्क साधा गया और आज सभी नाबालिग मजदूरों की वापसी संभव हुई. 11 नाबालिग मजदूरों में 9 बच्चियां और 2 बालक शामिल हैं. 

 

दरअसअल, तमिलनाडु में रेलवे पुलिस ने लगभग 3 महीने पहले सभी का रेस्क्यू किया था. लेकिन दो राज्यों के बीच फंसी कागजी कार्रवाई और ट्रेन के नहीं चलने की वजह से छत्तीसगढ़ भेजना संभव नहीं हो सका. आज तमिलनाडु प्रशासन की 8 सदस्यीय टीम नाबालिगों को लेकर कांकेर पहुंची. बालकों को कांकेर जिला प्रशासन के सुपुर्द करने की कार्रवाई की गई. मजदूरों ने बताया कि तीन महीने पहले सभी ट्रेन से सेलम जिला के हिरोंदा रेलवे स्टेशन जंक्शन पहुंचे थे. रेलवे पुलिस की पूछताछ में नाबालिग मजदूरों ने छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले का निवासी बताया. उन्होंने 300 रुपए दिहाड़ी के हिसाब से पोल्ट्री फार्म, बोरवेल गाड़ी और अन्य जगहों पर मजदूरी का मकसद बताया. उन्होंने कहा कि सभी एक एजेंट के जरिए तमिलनाडु पहुंचे हैं. इधर एजेंट पुलिस की भनक लगने के बाद फरार हो गया.

एबीपी न्यूज़ की इस खबर को पढ़ने के लिए यहां पर क्लिक करें.

अन्य महत्वपूर्ण खबरें

Copy link
Powered by Social Snap