Prerana ATC | Fight Trafficking

search

कोविड-19 के कारण अगर मां-बाप अस्पताल में भर्ती हैं तो बालकों की देखभाल करेगा बाल आयोग

तारीख: 30 अप्रैल, 2021
स्रोत (Source): नवजीवन इंडिया

तस्वीर स्रोत: Google Image

स्थान: दिल्ली

 

कोविड काल में कई परिवार ऐसे हैं जिनमें पति-पत्नी दोनों ही कोरोना से पीड़ित हैं और दोनों ही अस्पताल में भर्ती हैं. ऐसे परिवारों के बालक/बालिकाओं की देखभाल बड़ी समस्या बन गई है. लेकिन अब दिल्ली का बाल अधिकार आयोग इनकी मदद के लिए आगे आया है. आयोग ने कहा है कि वह मां-बाप दोनों के पीड़ित होने पर उनके बालक/बालिकाओं या अनाथ बालक/बालिकाओं की मदद के लिए पूरा सहयोग करेगा.

डीसीपीसीआर (दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग) ने इसके लिए हेल्पलाइन नंबर 9311551393 जारी किया है. इस नंबर पर फोन करके किसी भी बालक की समस्या को आयोग तक पहुंचाया जा सकता है. आयोग बालक/बालिका के रहने के साथ-साथ खाने-पीने संबंधी हर तरह की सहायता उपलब्ध कराएगा. डीसीपीसीआर के अध्यक्ष अनुराग कुंडू ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान बालकों के सामने संकट खड़ा हो गया है. कोविड के कारण कई बालक अपने माता-पिता को खो चुके हैं और कई के अभिभावक इस समय अस्पतालों में भर्ती हैं. ऐसे बालकों की देखरेख एक बड़ी समस्या बन गई है. उन्होंने आगे कहा कि आयोग ऐसे बालकों को चौबीस घंटे सहायता उपलब्ध कराएगा.

इसके साथ ही राजस्थान मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों में भी राज्य बाल अधिकार आयोग द्वारा कोविड-19 के कारण माता-पिता को खोने वाले बालकों की सूचना आयोग से साझा करने का आग्रह किया गया है.

 नवजीन इंडिया की इस खबर को विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

अन्य महत्वपूर्ण खबरें

Copy link
Powered by Social Snap