Prerana ATC | Fight Trafficking

search

क्षमता वृद्धि

TeamATC
जब परिवार ही शोषण को सहज कर देता है; पारंपरिक वाहतुक का एक केस

लगभग तीन दशकों से बाजारू लैंगिक शोषण के पीड़ितों का जीवन बेहतर करने की दिशा में प्रेरणा ने निरंतर कार्य किया है. इस दौरान प्रेरणा ने अनुभव किया कि कुछ विशेष समुदायों में पीड़ित को शोषण की ओर ढ़केलने में परिवार की अहम भूमिका रहती है. प्रेरणा ने ऐसे ही एक केस को लेकर एक दस्तावेज तैयार किया है. यह दस्तावेज संबंधित क्षेत्र में कार्य करने वाले हितधारकों के लिए बेहद उपयोगी साबित हो सकता है.

अधिक पढ़ें »
TeamATC
“इनके यहां तो ऐसा ही होता है”: प्रशासन की मानसिकता के शिकार पीड़ित

बाजारू लैंगिक शोषण के कई मामलों में करीब से कार्य करने के दौरान प्रेरणा के सदस्यों ने यह महसूस किया कि कानूनी प्रक्रिया में मौजूद कई अधिकारी व कर्मचारी बालक व उसकी स्थिति को लेकर संवेदनशील नहीं होते हैं. इस मुद्दे पर प्रकाश डालते हुए प्रेरणा ने एक दस्तावेज तैयार किया है. यह दस्तावेज संबंधित क्षेत्र में कार्य करने वाले हितधारकों के लिए बेहद उपयोगी साबित हो सकता है.

अधिक पढ़ें »
TeamATC
एक बेहतर जीवन का निर्माण – अकबर की कहानी

17 वर्षीय अकबर (बदला हुआ नाम) अपने पांच भाई-बहनों (3 बहन, 2 भाई) में सबसे बड़ा है. अकबर का जन्म मुंबई के कुख्यात रेडलाइट एरिया कमाठीपुरा में हुआ था, जहां उसकी मां वेश्याव्यवसाय का शिकार थी. प्रेरणा द्वारा तैयार किया गया यह दस्तावेज अकबर के रेडलाइट एरिया के चुनौती पूर्ण जीवन से निकलकर एक आत्म-सम्मान, अधिकार व उत्तम जीवन पाने के संघर्ष की यात्रा को दर्शाता है.

अधिक पढ़ें »
TeamATC
मुंबई में देह व्यापार से मुक्त कराई गई पीड़ित बालिकाओं के प्राथमिक आंकड़ों से प्रारंभिक निष्कर्ष

वर्ष 2015 से 2020 की कालावधि में देह व्यापार से मुक्त कराई गई बालिकाओं के साथ कार्य करने से हासिल हुए आंकड़ों के आधार पर ‘प्रेरणा’ द्वारा एक दस्तावेज तैयार किया गया है. यह दस्तावेज बालिकाओं के साक्षरता के स्तर, उम्र, गृह राज्य आदि जैसे प्राथमिक आंकड़ों के आधार पर एक प्रारंभिक निष्कर्ष निकालने का प्रयास करता है. दस्तावेज में प्रत्येक आंकड़े का विश्लेषण किया गया है. संबंधित क्षेत्र से जुड़ कर कार्य करने वाले सभी हितधारकों के लिए यह दस्तावेज बेहद उपयोगी साबित होगा.

अधिक पढ़ें »
TeamATC
केस वर्कर के किसी केस को छोड़ने/निष्कासन के मापदंड

कई वर्षों से पीड़ित बालक/बालिकाओं (क्लायंट) के साथ कार्य करने से हासिल हुए अनुभव के आधार पर प्रेरणा ने केसवर्कर द्वारा केस छोड़ने या निष्कासन के संबंध में एक दस्तावेज तैयार किया है. इस दस्तावेज में उन सभी परिस्तिथियों का जिक्र है, जिनके तहत एक केसवर्कर को केस छोड़ना पड़ सकता है. साथ ही केस छोड़ने के क्रम में केसवर्कर द्वारा किन प्रक्रियाओं का पालन किया जाना चाहिए, इसका भी जिक्र इस दस्तावेज में किया गया है. पूर्ण दस्तावेज को पढ़ने के लिए अधिक पढ़े पर क्लिक करें.

अधिक पढ़ें »
TeamATC
सामाजिक अन्वेषण रिपोर्ट

यह दस्तावेज सामाजिक अन्वेषण रिपोर्ट (एसआईआर) के विभिन्न पहलुओं पर रोशनी डालता है। इसमें दर्ज की गई जानकारी का उद्देश्य कम्यूनिटी में जाकर काम करने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं को एसआईआर के संबंध में बेहतर जानकारी प्रदान करना है, जिससे वह आसानी व बेहतर तरीके से अपने काम को पूरा कर सके।

अधिक पढ़ें »
x-special/nautilus-clipboard copy file:///home/devendra/Downloads/Sensitive Communication
TeamATC
बालकों के साथ संवेदनशील संवाद

बाल देखभाल संस्थानों यानी चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूट (सीसीआई) में देखभाल करने वालों यानी केयरगिवर और बालकों के बीच स्वस्थ और प्रभावी संवाद विकसित करना बेहद ज़रूरी

अधिक पढ़ें »
केस वकयसय हे तु उगचत कामय - प्रणारी स सॊफॊगधत भािय - दगशयका
TeamATC
केस वर्कर्स हेतु उचित कार्य-प्रणाली से संबंधित मार्ग-दर्शिका

माननीय स्वाति चौहान, न्यायधीश और माननीय रोशन दलवी, न्यायधीश अधिवक्ता नंदिनी ठक्कर सिंह, अधिवक्ता काइल डिसूज़ा, श्री सौरभ मलिक, सुश्री किशोरी सालुंके और सुश्री स्वाति

अधिक पढ़ें »
Copy link
Powered by Social Snap